( चित्र Google Search से साभार )

किसी के व्यक्तिगत जीवन में हस्तक्षेप मत करिए ॥

झकाझक स्वच्छ मुखड़ों पर यूँ श्यामल लेप मत करिए ॥

वो प्रेमी-प्रेमिका हैं हक़ है उनका मस्त बातों का ,

कभी लुकछिप के टेलीफ़ोन उनका टेप मत करिए ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *