( चित्र Google Search से साभार )

तैर ना पाए तो जलयान को बना डाला ।।

उड़ नहीं पाए तो विमान को बना डाला ।।

किंतु तेरा न जब विकल्प मिल सका हमने ,

आत्महत्या के ही सामान को बना डाला

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *