जितना हुआ है सारा , वो ख़र्च कमा लेंगे ॥

शीराज़ा बिखरा बिखरा , हम फ़िर से जमा लेंगे ॥

पीछे नहीं हटेंगे , मेहनत से कोशिशों से ,

रूठा हुआ मुक़द्दर , इक रोज़ मना लेंगे ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *