क्या गुनह मैंने किया जो चूम बैठा पीठ पर ॥

‘‘किस मी किस मी टच मी टच मी’’ देख लिक्खा पीठ पर ॥

ले चली मुझको पकड़ कर पोलिस इस इल्ज़ाम में ,

रात भर मारेगी मिलकर लात मुक्का पीठ पर ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *