पोलिस वाले इज्ज़त-प्यार से बोलेंगे ॥

बनिये दीन-ईमान से सौदा तोलेंगे ॥

बन जाएँँगे हरिश्चंद्र जब सब नेता ,

कौए तब से कान में मिश्री घोलेंगे ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *