ईश्वर को ध्यान में रख पथ की विकट बलाएँ ॥

हमनें स्वयं ही हल कीं चुन-चुन के समस्याएँ ॥

कुछ भी तो सरलता से सौभाग्य से न पाया ,

जो कुछ मिला है करके घनघोर तपस्याएँ ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *