जानवर को बहुत प्यार करता जहाँ ।।

पेड़ पौधों पे भी दुनिया देती है जाँ ।।

दूरियाँ होशियारी से क़ायम रखे ,

इंसाँ इंसाँ से बचता फिरे याँ वहाँ ।। 

-डॉ. हीरालाल प्रजापति

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *