हर किसी पे उसका दिल हारा नज़र आया ॥

इश्क़ का बीमार और मारा नज़र आया ॥

जब उसे देखा था पहले पहल वैसा ही ,

तर-ब-तर ग़म से वो दोबारा नज़र आया ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *