तुम जलाते हो तब भी तुमको जला कहना है !!

तुम गलाते हो फिर भी तुमको गला कहना है !!

जानता हूँ मैं तुम बुरे हो मगर चाहत में ,

मुझको ना चाहकर भी तुमको भला कहना है !!

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *