जाने किन ऊँचाइयों से गिर पड़ा है ?

उठके भी ताले सा मुँह लटका खड़ा है ॥

और सब सामान्य है पर देखने में ,

पूर्ण जीवित भी वो लगता अधमड़ा है ॥

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *