क्या अंग्रेजों के ऊपर भी

एक अंग्रेजी की वक्तृता

मुझ जैसे

अंग्रेजी न जानने वाले हिन्दुस्तानी की तरह ही

कुछ भी न समझ आने के बावजूद भी

वशीभूत कर डालने वाला प्रभाव डालती है ?

इसी प्रकार की

अन्य किसी भाषा की वक्तृता भी

जिसकी भाषा भी मुझे नहीं आती

क्या अंग्रेजी की तरह ही प्रभाव डालती है ?

ठीक ऐसी ही वक्तृता

जो मेरी ही भाषा में हो

और जो मुझे समझ में भी आती हो

क्या अंग्रेजी की तरह ही मुझ पर प्रभाव डालती है ?

महत्वपूर्ण प्रश्न यह है कि

महत्वपूर्ण क्या है ?

वक्तृता अथवा अंग्रेजी भाषा ?

-डॉ. हीरालाल प्रजापति 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *