गीत : 42 – क्या किसी भूले हुए

क्या किसी भूले हुए ग़म की याद आने लगी ? हँसते – हँसते हुए क्यूँ आँख छलछलाने लगी ? क्या किसी भूले हुए…………………….. आँख कस – कस के भी लगाए लग न पाती है । रात करवट बदल – बदल के बीत...Read more