विवाह अभिनंदन पत्र

कर सरस्वती को नमन प्रथम गणपति का वंदन करता हूँ ।। हों कामनाएँ पूरी मेरी विनती मन ही मन करता हूँ ।। हिय से हो भाव विभोर तुम्हें शत-शत अभिनंदित करता हूँ ।। यह कन्या रूप रतन तुमको मैं आज...Read more

विवाह आभार पत्र

आपने करबद्ध हो हम को नमन शत-शत किया ।। अपना नीलाकाश से भी उच्च मस्तक नत किया ।। झुक गए प्रत्येक बाराती भी आगे आपके , आपने कुछ इस तरह उनका सुहृद् स्वागत किया ।। कौन करता है किसी का...Read more