बात करता है तिरंगे को जलाने की ।।

कोशिशें करता है भारत को मिटाने की ।।

ये सितारा-चाँद हरे रँग पर जड़े झण्डा ,

सोचता है बंद हवा में फरफराने की ।।

-डॉ. हीरालाल प्रजापति

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *