[ चित्र Google Search से साभार ]

कभी भी कम नहीं ज्यादा से ज्यादा चूमने जाता ।।

मसालेदार छूने और सादा चूमने जाता ।।

न हो हैरान सचमुच ही कभी पीनेे नहीं बस-बस ,

मैं मैख़ाने में बोतलबंद बादा चूमने जाता ।।

-डॉ. हीरालाल प्रजापति

This article has 2 comments

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *