सब पूछना मगर न पूछना ये भूलकर सवाल ।।
क्या है तुम्हारे बिन हमारा इन दिनों में हालचाल ?
वर्ना तुम्हें जवाब कैसे देंगे ये कि हम को डर है ,
फ़रमा न जाएँ इंतिज़ार में कहीं हम इंतिक़ाल ?
-डॉ हीरालाल प्रजापति

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *