कितने अक्बर ओ कितने सिकंदर हुए ?

आख़िरश , मौत को सब मयस्सर हुए ।।

जेब किसके कफ़न में हुआ आज तक ,

वो हुए शाह या धुर फटीचर हुए ।।

-डॉ. हीरालाल प्रजापति

This article has 2 comments

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *