■ मुक्तक : 1004 – नाग

राम रटता मत हरा तोता सही , काँव करता एक काला काग रख ।। एक चितकबरी सी बिल्ली गोद ले , या भले कुत्ता कोई बेदाग़ रख ।। गाय यदि ना मिल सके तो इक सुअर ; पाल ले कैसा...Read more