राम रटता मत हरा तोता सही ,
काँव करता एक काला काग रख ।।
एक चितकबरी सी बिल्ली गोद ले ,
या भले कुत्ता कोई बेदाग़ रख ।।
गाय यदि ना मिल सके तो इक सुअर ;
पाल ले कैसा भी हो तू जानवर ;
उम्र भर रहले अकेला पर कभी ,
आस्तीनों में बसा मत नाग रख ।।
-डॉ. हीरालाल प्रजापति

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *