∆ सॉनेट : 04 – इश्क़

आज वो मुझसे रूठ चले किस तरह बुलाऊँ ? आज मनाने से भी वो वापस आ न सकेंगे । प्यास वो उनको आज नहीं फिर क्या मैं बुझाऊँ ? पेट भरा कुछ भी जो परोसूँ खा न सकेंगे ।। सोचूँ...Read more