■ 1008 – दुआएँ

कभी झुकने नहीं देतीं , उठाए मुझको रखती हैं ।। तुनुक मिटने नहीं देतीं , बनाए मुझको रखती हैं ।। वहाँ है मौत डग-डग पर , मैं जिन राहों पे चलता हूँ , दुआएँ हैं किसी की जो , बचाए...Read more