[] नज़्म : 09 – हालत

हालात ने बदल दी , सूरत मेरी कुछ ऐसी , बस साल भर पुरानी , तस्वीर को मेरी सब , तक-तक के ग़ौर से भी , कहते हैं मैं नहीं हूँ ; मैं झूठ बोलता हूँ , सच , झूठ...Read more