पहले बोलो ” कूदो छत से ” ,

गर कूद पड़ूॅं तो मत झेलो ।।

मुझको ख़ुद ला लाकर सब दो ,

फिर छीन-झपट वापस लेलो ।।

जब तक है मेरे दम में दम ;

तुम मेरे साथ रहो हरदम ;

मत खेलो साथ किसी के ; बस ,

मुझसे , मेरे दिल से खेलो ।।

-डॉ. हीरालाल प्रजापति

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *