🎊 माहिया 🎊

उस वक़्त भी कब रोया ? उम्र का सब हासिल , दम भर में ही जब खोया ।। ***************** तुम रोओ महफ़िल में ; हम भी ग़म रखते , लेकिन दिल ही दिल में ।। ***************** बस जिस्म है ताक़तवर...Read more

💝 घनाक्षरी 💝

मुझे पता तूने सच , बिछड़ मेरी याद में , नहीं रखी आँख नम , रहा सदा पर घुटा ।। तेरा मेरे दिल से जो , चिपक गया नाम तो , नहीं कभी मुझसे भी , रगड़ छुटाए छुटा ।।...Read more